FANDOM


(Created page with "हराम : कहते हैं जिस के करने वाले को दण्डित किया जाये और उसे परित्याग ...")
 
Line 1: Line 1:
  +
[[File:इस्लाम में हलाल और हराम.png|thumb|220x220px]]
 
हराम : कहते हैं
 
हराम : कहते हैं
 
जिस के करने वाले को दण्डित किया जाये और उसे परित्याग करने वाले को पुरस्कृति
 
जिस के करने वाले को दण्डित किया जाये और उसे परित्याग करने वाले को पुरस्कृति

Revision as of 05:06, May 12, 2020

इस्लाम में हलाल और हराम

हराम : कहते हैं जिस के करने वाले को दण्डित किया जाये और उसे परित्याग करने वाले को पुरस्कृति किया जाये यदि उस ने अल्लाह तआला के निषेद्ध को त्यागने में अल्लाह का आज्ञा पालन किया है।

हलाल : जिस के करने में कोई गुनाह नहीं है जिस तरह कि उस के छोड़ने में कोई गुनाह नहीं है, हाँ अगर उस के करने में अल्लाह सुब्हानहु व तआला के आज्ञा पालन पर शक्ति और सक्षमता प्राप्त करना हो तो इस नीयत पर उसे पुण्य मिलेगा।

किसी चीज़ को हलाल ठहराना और किसी चीज़ को हराम ठहराना एक मात्र अल्लाह तआला का अधिकार है। कुछ लोगों ने अल्लाह तआला की हराम की हुई कुछ चीज़ों को हलाल ठहरा लिया है, और कुछ लोगों ने अल्लाह तआला की हलाल की हुई कुछ चीज़ों को हराम घोषित कर दिया है, और इसी तरह कुछ लोगों ने ऐसी इबादतें अविष्कार कर ली हैं जिन्हें अल्लाह तआला ने वैध नहीं किया है बल्कि उन से रोका है।

और "असल दीन" (मूल धर्म) यह है कि हलाल वह है जिसे अल्लाह और उस के रसूल ने हलाल ठहराया है, और हराम वह है जिसे अल्लाह और उस के रसूल ने हराम ठहराया है, और दीन (धर्म) वह है जिसे अल्लाह और उस के रसूल ने निर्धारित किया है। किसी व्यक्ति के लिए यह अनुमति नहीं है कि वह उस सीधे मार्ग (सिराते मुस्तक़ीम) से बाहर निकले जिस के साथ अल्लाह तआला ने अपने पैगंबर को भेजा है, अल्लाह तआला ने फरमाया : "और यही धर्म मेरा मार्ग है जो सीधा है, अत: इसी मार्ग पर चलो, और दूसरी पगडण्डियों पर न चलो कि वे तुम्हें अल्लाह के मार्ग से अलग कर देंगी, इसी का अल्लाह तआला ने तुम को आदेश दिया है ताकि तुम परहेज़गार (संयमी, ईश-भय रखने वाले) बनो।" (सूरतुल अंआम : 153)

हलाल इस्लामी कानून में अनुमत या वैध है। यह अनुमत भोजन और पेय पर अक्सर लागू होता है।

कुरान में, हलाल शब्द हराम (वर्जित) के व्यतिरेक रूप में उपयोगित है।

इस्लामी कानून के अनुसार। जानवरों को मारने की इस विधि में तेज, गहरी चीरा बनाने के लिए एक अच्छी तरह से धारदार चाकू का उपयोग किया जाता है जो गले के सामने, कैरोटिड धमनी, श्वासनली और गले की नसों को काट देता है। एक जानवर का सिर जिसे हलाल विधियों का उपयोग करके वध किया जाता है, को चीला के साथ जोड़ दिया जाता है । दिशा के अलावा, अनुमति प्राप्त जानवरों को " अल्लाह के नाम पर " इस्लामिक आयत बिस्मिल्लाह के उच्चारण पर वध करना चाहिए।

मुसलमानों को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी खाद्य पदार्थ (विशेष रूप से प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ), साथ ही साथ सौंदर्य प्रसाधन और फार्मास्यूटिकल्स जैसे गैर-खाद्य पदार्थ हलाल हो ।

Community content is available under CC-BY-SA unless otherwise noted.